Parshuram Jayanti 2022 कब है? जानें सही तिथि, पूजा विधि मुहूर्त, महत्व और इतिहास

हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार भगवान विष्णु के छठे अवतार भगवान परशुराम का जन्म वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हुआ। इस वर्ष भगवान परशुराम की जयंती 3 मई 2022 को होने वाली है इसी दिन हिंदू अक्षय तृतीया मनाएंगे।

Parshuram Jayanti 2022 Shayari, Slogan, SMS, Status, Whishes, Quotes In Hindi
परशुराम जयंती 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं इमेज, कोट्स, शायरी, स्टेट्स, स्लोगन और बैनर

परशुराम जयंती कैसे मनाई जाती है?

  • परशुराम जयंती के एक दिन पहले से ही उनकी शोभायात्राएं शुरू हो जाती है और डीजे के साथ बड़े धूम धाम से शोभायात्रा निकाली जाती है।
  • परशुराम जयंती के दिन सक्षम लोग श्रद्धालुओं के लिए हलवा, पकोड़ी और फलों का नाश्ता करवाते है।

परशुराम जयंती तिथि (Date)

  • परशुराम जयंती यानी अक्षय तृतीया की तिथि मंगलवार 3 मई 2022 को 5 बजकर 20 मिनट से शुरुआत और समाप्ति 4 मई 2022, बुधवार को सुबह 7 बजकर 30 मिनट तक है।

परशुराम जयंती का महत्व

  • अक्षय तृतीया के दिन भगवान परशुराम की पूजा करने से अज्ञात शत्रुओं से आपको मुक्ति मिल सकती है।
  • परशुराम जयंती पर व्रत करने से आपको मिलने वाला पुण्य कभी समाप्त नहीं होगा और आपको मनचाहे फल की प्राप्ति होगी।

परशुराम जयंती 2022 पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

  • सबसे पहले आप अपने आसपास किसी नदी में जाकर स्नान कर लें और यदि आपके आसपास कोई नदी नही है तो गंगाजल थोड़े पानी में मिलाकर भी स्नान कर सकते है।
  • आपको व्रत करना है जिसमे आपको किसी भी प्रकार का अन्न नही खाना है अगर कोई बच्चा या बड़ा भी भूख लगे तो फलाहार कर सकते है।
  • भगवान परशुराम की तस्वीर के सामने आकर दीप जला लें और पूजा करके भोग लगा दें।
  • भोग लगाने के बाद आपको कुछ मात्रा में प्रसाद लेना है तो अपने आसपास बांट दे या हिंदू गरीबों में बांट दे और आपको हिंदू धार्मिक ग्रंथ श्रीमद भागवत का पाठ नियमित तौर पर करना चाहिए।

परशुराम जयंती 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं इमेज, कोट्स, शायरी, स्टेट्स, स्लोगन और बैनर पोस्टर | Happy Parshuram Jayanti 2022 Images, Quotes, Shayari, Status, Slogan and Banner In Hindi

  • पंडितो को शास्त्र के साथ शस्त्र का ज्ञान होना भी जरूरी है ये भगवान परशुराम ने हमे सिखाया है।
  • आओ हम सब मिलकर मनाए भगवान परशुराम जयंती – जय दादा परशुराम की
  • शेर कभी सियार नही हुए, ब्रह्मण कभी गद्दार नही होते – जय दादा परशुराम

Latest News In Hindi

भगवान परशुराम जयंती के बारे में रोचक तथ्य

परशुराम जी सहस्रार्जुन को मारते हुए
परशुराम जी सहस्रार्जुन को मारते हुए
  • भगवान परशुराम का जन्म रेणुका और सप्तर्षि जमदग्नि के घर हुआ और वे हिंदू धर्म मान्यताओं के अनुसार धरती पर 7 अमर लोगो में से एक है।
  • भगवान परशुराम के शिष्यों में भीष्म पितामह, द्रोणाचार्य और कर्ण जैसे नाम शामिल है जो कुरुक्षेत्र के युद्ध में मारे गए थे।
  • न्याय के देवता कहे जाने वाले भगवान परशुराम ने अपने पिता की मृत्यु का बदला लेने के लिए पृथ्वी को 21 बार क्षत्रियों से मुक्त कर दिया।
  • एक बार परशुराम जी श्री शिव जी से मिलने के लिए कैलाश पर्वत पर पहुंच गए जिसके बाद भगवान गणेश ने उन्हे उनसे मिलने से रोका जिसके बाद उन्होंने क्रोधित होकर भगवान गणेश का एक दांत अपने फरसे से तोड़ दिया।
यह भी पढ़े

Related Posts

Eid-ul-Fitr 2022: कब है? जानिए इतिहास, महत्व, निबंध और शुभकामनाएं या मुबारकबाद

ईद-उल-फितर (Eid Ul Fitr) इस्लाम धर्म का प्रमुख त्योहार है जो मुस्लिमों के उपवास के महीने रमजान के खत्म होने और शव्वाल, इस्लामी कैलेंडर के 10 वें…

Leave a Reply

Your email address will not be published.

वजन बढ़ाने का डाइट प्लान जिसे फॉलो करते ही बढ़ने लगेगा वजन हाइट बढ़ाने के लिए 6 बेस्ट एक्साइज अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्ति दिवस 2022: जानें इस दिन का इतिहास, महत्व और थीम Photo’s: Nayanthara And Vignesh Shivan’s Wedding Album Sidhu Moosewala का आखिरी Video इतनी गोलियां लगी थी😭😭 KGF में रॉकी भाई Yash की मां Real लाइफ में है इतनी Hot देखें Photos Mother’s Day 2022: मां के महत्व को समझाएंगी ये तस्वीरें RRB NTPC CBT 2 Admit Card 2022 करें डाउनलोड M.S. Dhoni: इन 14 फोटो से पता चलेगा कितने जमीन से जुड़े है एमएस धोनी और इस उम्र में करते है वर्कआउट Avneet Kaur: इन वायरल फोटोज की वजह से छाई हुई है अवनीत कौर इंटरनेट पर Urfi Javed News: देखे पिछले 10 हॉट फोटो LIC IPO आने से पहले आपको ये जरूरी बाते जान लेनी चाहिए